Home Stories

Category: Stories

Post
वह हीरो जिन्होंने प्रतिमान गढ़ दिए, आइए जानें पद्म पुरस्कार पाने वाले नायकों की कहानी

वह हीरो जिन्होंने प्रतिमान गढ़ दिए, आइए जानें पद्म पुरस्कार पाने वाले नायकों की कहानी

जैसी की रवायत रही है कि गणतंत्र दिवस से पहले पद्म पुरस्कार पाने वाले नामों का ऐलान हो जाता है। इस लिस्ट में गीतकार बालासुब्रमण्यम से लेकर जापान के पीएम शिंजो आबे तक के नाम है। लेकिन अधिकतर नाम ऐसे हैं जिन्हें आम लोग नहीं जानते हैं पर इन लोगों ने अपने अपने क्षेत्र में...

Post
साल 2020 में भारत में आए 964 भूकंप, जानें कितनी बार खर्राया दिल्ली-एनसीआर

साल 2020 में भारत में आए 964 भूकंप, जानें कितनी बार खर्राया दिल्ली-एनसीआर

दिल्ली-एनसीआर सहित देश के कई राज्यों में शुक्रवार रात भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। साल 2021 को शुरू हुए दो महीना भी नहीं हुआ है और यह दूसरा झटका था। हालांकि, दिल्ली में साल 2020 में भी 13 बार भूकंप के झटके महसूस किए गए। विज्ञान, तकनीकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के मुताबिक,...

Post
मान्या सिंहः पिता हैं रिक्शा ड्राइवर; अब बनीं Miss India रनर-अप

मान्या सिंहः पिता हैं रिक्शा ड्राइवर; अब बनीं Miss India रनर-अप

फेमिना Miss India 2020 का Result सामने आया तो खिताब तेलंगाना की मानसा के खाते में गया, लेकिन जिस प्रतिभागी ने लोगों की आंखों को नम कर दिया उसका नाम है मान्या सिंह। हो भी क्यों न, मान्या का जीवन ही संघर्ष की दास्तां है। मान्या ने खुद सोशल मीडिया पर अपने संघर्ष की कहानी...

Post
Padmanabhaswamy temple ने इस वजह से केरल सरकार को 11.70 करोड़ रुपये चुकाने में जताई असर्मथता

Padmanabhaswamy temple ने इस वजह से केरल सरकार को 11.70 करोड़ रुपये चुकाने में जताई असर्मथता

नई दिल्ली। केरल का पद्मानाभस्‍वामी मंदिर जो कि देश के अमीर मंदिरों में से एक है लेकिन कोरोना में हुए लॉकडाउन के चलते सरकार को 11.70 करोड़ रुपये नहीं चुका पा रहा है। यही कारण है कि मंदिर प्रशासनिक समित‍ि ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई है।मंदिर प्रशासन ने कोर्ट को दी गई अर्जी में...

Post
वफादारी: लापता मालिक के इंतजार में 5 दिनों से टनल के बाहर इंतजार कर रहा है यह कुत्ता

वफादारी: लापता मालिक के इंतजार में 5 दिनों से टनल के बाहर इंतजार कर रहा है यह कुत्ता

इंतजार में 5 दिनों से टनल के बाहर इंतजार कर रहा है यह कुत्ता बता दें हिमस्खलन या ग्लेशियर टूटने के बाद अलकनंदा नदी में पानी में बढ़ोत्‍तरी होने के कारण बाढ़ आ गई थी। एनटीपीसी के तपोवन विष्णुगढ़ जलविद्युत परियोजना के 34 श्रमिक सुरंग के अंदर फंसे हुए थे। उत्तराखंड आपदा में नदी में...

Post
पति के पास जाने के लिए फूट-फूटकर रोई मासूम बच्ची, यूजर्स दबाकर शेयर कर रहे हैं Video

पति के पास जाने के लिए फूट-फूटकर रोई मासूम बच्ची, यूजर्स दबाकर शेयर कर रहे हैं Video

वायरल हुआ पति के लिए रोती बच्ची का वीडियो 56 सेकंड के इस वायरल क्लिप ने सोशल मीडिया पर दर्शकों का दिल जीत लिया है। बच्ची की मासूमियत देख आप भी खुद को उससे प्यार करने से नहीं रोक सकते। वीडियो के कमेंट बॉक्स में यूजर्स मजेदार प्रतिक्रिया दे रहे हैं, साथ ही बच्ची के...

Post
भारत सरकार द्वारा सप्लाई मुफ्त, फिर भी Covaxin को नहीं मिल रहे अंतरराष्ट्रीय खरीदार

भारत सरकार द्वारा सप्लाई मुफ्त, फिर भी Covaxin को नहीं मिल रहे अंतरराष्ट्रीय खरीदार

नई दिल्ली। दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन का काम तेजी से किया जा रहा है। भारत, अमेरिका और ब्रिटेन में टीका लगवाने वाली की संख्या अब बहुत जल्द एक करोड़ को पार करने वाली है। इस बीच भारत की स्वदेशी वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ के निर्यात को लेकर बुरी खबर सामने...

Post
ऑटो ड्राइवर ने अपनी पोती को पढ़ाने के लिए बेच दिया घर… सामने आई दिल छू जाने वाली स्टोरी

ऑटो ड्राइवर ने अपनी पोती को पढ़ाने के लिए बेच दिया घर… सामने आई दिल छू जाने वाली स्टोरी

पोती को टीचर बनाने के लिए बुजुर्ग ऑटो चालक ने बेचा घर ‘ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे’ ने ऑटो रिक्शा चालक देसराज की कहानी साझा करते हुए लिखा कि, 6 साल पहले मेरा बड़ा बेटा घर से गायब हो गया था। वो काम के लिए घर से निकला और कभी वापिस नहीं आया। उनके बेटे का शव...

Post
महिला ने सर्कस से बचाया तो शेर ने लगा लिया गले, वीडियो देख लोग बोले- ऐसा प्यार नहीं देखा

महिला ने सर्कस से बचाया तो शेर ने लगा लिया गले, वीडियो देख लोग बोले- ऐसा प्यार नहीं देखा

जूपियर है शेर का नाम, महिला का एना आईएफएस सुशांत नंदा ने ट्विटर पर ये वीडियो शेयर किया है। उन्होंने लिखा है- जो सबसे क्रूर है वो सबसे वफादार भी हो सकता है। किसी इंसान से भी ज्यादा। एना ने जूपिटर नाम के इस शेर को एक ट्रेवल सर्कस से बचाया गया था। जिसके बाद...

Post
संघर्ष: कॉलेज की फीस भरने के लिए मिट्टी ढोई छात्रा ने

संघर्ष: कॉलेज की फीस भरने के लिए मिट्टी ढोई छात्रा ने

गरीब परिवार में पैदा हुई बेहेरा ने पुरी के देलांग प्रखंड में निर्माण स्थल पर 20 दिनों तक 207 रुपए की दिहाड़ी मजदूरी पर काम किया, क्योंकि वह कॉलेज की फीस भरने और अपना डिप्लोमा प्रमाणपत्र हासिल करने के लिए पैसा इकट्ठा करना चाहती थी। कॉलेज ने उसे शुल्क का बकाया राशि चुकाने के लिए...