‘Darling’ सिंगर उषा उत्थुप ने क्यों कहा- ‘अब हरे कृष्णा हरे रामा गाने से लगता है डर’
गरीबी में बीता उषा उत्थुप का बचपन

गरीबी में बीता उषा उत्थुप का बचपन

उषा उत्थुप ने बताया कि उनके पिता पुलिस विभाग में काम करते थे और उसूल पंसद इंसान हैं। उनके 6 भाई-बहन थे। उनके पास केवल दो जोड़ी स्कूल यूनिफार्म थी, एक पहनने के लिए और एक धोने के लिए। उषा ने बताया कि वो एक मिडिल क्लास फैमिली से आती हैं और इसलिए संगीत के क्षेत्र में जगह बनाने के लिए उन्हें बहुत सारी मुश्किलों से गुजरना पड़ा। उषा ने बताया कि उनकी शुरुआत तो एक नाईट क्लब के सिंगर के रूप में हुई थी, जहां देवआंनद साहब की नजर पहली बार उन पर पड़ी।

देव साहब ने पूछा-गाओगी मेरी फिल्म के लिए?

देव साहब ने पूछा-गाओगी मेरी फिल्म के लिए?

उषा ने बोला कि देव साहब मेरा गाना सुनकर मेरे पास आए और बोले के किया क्या तुम मेरे प्रोजेक्ट के लिए गाओगी। वो उस वक्त ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ बना रहे थे। मैंने सुनते ही ‘हां’ कर दी और उसके बाद मैंने इस फिल्म का टाईटल गीत ‘हरे रामा हरे कृष्णा गाया’, जो कि उषा की पहचान बन गया।

‘हरे रामा हरे कृष्णा’ गाने में लगता है डर

जिस वक्त मैंने इसे गाया था, उस वक्त मुझे पता नहीं था कि ये ही गीत मुझे मेरी मंजिल तक लेकर जाएगा। खैर इस के बाद उषा ने मजाकिया अंदाज में कहा कि लेकिन अब ‘हरे रामा हरे कृष्णा ‘ गाने में डर लगने लगा है क्योंकि अब गाने का एक खास अर्थ है?

मैंने तो 'hari om hari' भी गाया है

मैंने तो ‘hari om hari’ भी गाया है

वैसे भी बंगाल में तो चुनावी माहौल है, ऐसे में ये गाना… इतना कहकर उषा उत्थुप जोर-जोर से हंसने लगी। फिर इसके बाद उन्होंने कहा कि मैंने तो ‘hari om hari’ जैसे कई ईश्वर के गीत गाए हैं।

मिथुन दा के लिए प्लेबैक सिंगिग की

उन्होंने कहा कि वैसे तो मैंने हर अभिनेत्री के लिए गाया है लेकिन आपको जानकर हैरत होगी कि मैंने मिथुन दा के लिए प्लेबैक सिंगिग की है। उन्होंने कहा कि मैंने मिथुन चक्रवर्ती के लिए फिल्म ‘रोटी की कीमत’ के गीत ‘आंखों से पी ले’ गाया था, जो कि एक हिट गीत है। उषा ने कहा कि शायद मेल को आवाज देने वाली मैं पहली फीमेल सिंगर हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.