फरवरी में दूसरी बार गैस महँगी, FASTag बिना शहर में भी कटेगा चालान

अभी साल के सिर्फ एक महीने बीते हैं और जनता को झटके लगने शुरू हो गए हैं। फ़रवरी के महीने में अबतक दो बार गैस के दाम में बढ़ोत्तरी की जा चुकी है। वहीँ अब सरकार ने हर गाड़ी पर FASTag लगाना भी अनिवार्य कर दिया है। इतना ही नहीं बिना FASTag वाली गाड़ी का बीमा भी नहीं किया जाएगा और उसे हाईवे पर दोगुना टोल भी देना होगा।

रसोई गैस के दाम में हो रही बढ़ोत्तरी से लोगों को अपनी जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ सकती है। सिर्फ फ़रवरी के महीने में ही गैस के दाम दो बार बढाए गए हैं। पहले 4 फ़रवरी को गैस के दाम 719 रूपये तय किये गए थे वहीँ अब 14 फ़रवरी को गैस के दाम का आंकड़ा 769 रूपये तक पहुँच चुका है। बीते 11 महीनों में घरेलू गैस सिलिंडर करीब 187.50 रूपये महंगा हो चुका है। पिछले साल मई के महीने में एक गैस सिलिंडर की कीमत सिर्फ 581 रूपये थी।

किसी भी प्रकार के वाहन रखने वाले लोगों के लिए फ़रवरी का यह महीना परेशानी का सबब बनकर आया है। सरकार के नए नियम के हिसाब से अब हर वाहन पर फास्टैग लगाना अनिवार्य होगा। हालाँकि इसमें दो पहिया वाहनों को शामिल नहीं किया गया है। बिना फास्टैग के शहर में भी गाड़ी चलाने पर जुर्माना हो सकता है। इतना ही नहीं बिना फास्टैग वाली गाड़ी का अब बीमा भी नहीं किया जाएगा साथ ही हाईवे पर दोगुना टोल भी देना होगा।

 

सरकार ने 1 जनवरी 2021 से सभी गाड़ियों पर फास्टैग लगाना अनिवार्य कर दिया था। हालाँकि बाद में सरकार ने इसकी तारीख 15 फ़रवरी तक के लिए आगे बढ़ा दी थी।दरअसल फास्टैग एक स्टिकर होता है जो गाड़ी के आगे की स्क्रीन पर लगाया जाता है। गाड़ी जैसे ही किसी टोल प्लाजा से निकलती है तो वहां लगे सेंसर उस स्टिकर को स्कैन कर लेते हैं। इससे गाड़ियों को टोल प्लाजा पर रुकने की जरुरत नहीं होती है।

 

इस फास्टैग स्टिकर को किसी भी अमेजन, फ्लिप्कार्ट जैसे ऑनलाइन प्लेटफार्म से ख़रीदा जा सकता है। साथ ही यह फास्टैग कई सारे बैंकों में भी उपलब्ध है। फास्टैग से टोल प्लाजा पर भुगतान 2016 में शरू किया गया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.