यूपी: विधायक अमनमणि त्रिपाठी अपहरण केस में भगोड़ा घोषित, अदालत ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट

उत्तर प्रदेश की एक अदालत ने निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी को भगोड़ा घोषित कर दिया है। दरअसल अपहरण से जुड़े एक मामले में विधायक आरोपी थे और अदालत ने कई बार उन्हें कोर्ट की कार्यवाही में शामिल होने के लिए कहा था लेकिन विधायक कोर्ट के बुलाने के बावजूद हाजिर नहीं हुए। जिसके बाद अब अदालत ने विधायक अमनमणि त्रिपाठी को भगोड़ा घोषित कर दिया है।

कोर्ट के सामने बार-बार उपस्थित नहीं होने पर पूर्व कैबिनेट मंत्री और महाराजगंज की नौतनवा सीट से निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी को लखनऊ की एमपी-एमएलए कोर्ट (MP-MLA Court) ने भगोड़ा घोषित कर दिया है। 29 जनवरी को सुनवाई के समय आरोपी रवि और संदीप हाजिर हुए, पर अमनमणि को बीमार बताते हुए हाजिरी माफी की अर्जी दी गई थी।

यह है मामला: 6 अगस्त, 2014 को गोरखपुर के ठेकेदार ऋषि कुमार पांडेय ने गौतमपल्ली थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी कि अमनमणि ने अपने साथियों के साथ उसे गाड़ी से अगवा कर लिया था। उसके बाद रास्ते में पिटाई की और रंगदारी न देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। इस मामले में पुलिस ने 28 जुलाई, 2017 को अमनमणि व अन्य आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट लगाई थी।

गिरफ्तार वारंट भी जारी: आपको बता दें कि अमनमणि त्रिपाठी को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने की वजह से समाजवादी पार्टी से बाहर निकाल दिया गया था। बहरहाल अब इस अपहरण से जुड़े मामले में अदालत ने अगली सुनवाई की तारीख 4 मार्च तय की है। अदालत ने अमनमणि को भगोड़ा घोषित करने के अलावा उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट भी जारी किया है।

पत्नी की हत्या का लगा था आरोप: अमन मणि त्रिपाठी पूर्व मंत्री अमर मणि त्रिपाठी के बेटे हैं। महाराजगंज जिले के त्रिलोकपुरी के रहने वाले अमन मणि त्रिपाठी के पिता भी नौतनवा विधानसभा सीट से विधायक रह चुके हैं। अमन मणि त्रिपाठी यूपी के सीएम के तौर पर योगी आदित्यनाथ को सपोर्ट कर के भी सुर्खियों में आए थे।

साल 2016 में अमन मणि त्रिपाठी उस वक्त विवादों में आए थे जब उस साल नवंबर के महीने में उन्हें अपनी ही पत्नी की हत्या के आरोप में जेल की हवा खानी पड़ी थी। बीवी की हत्या में नाम आने के बाद समाजवादी पार्टी ने उन्हें टिकट देने से इनकार कर दिया था। पत्नी की हत्या के आरोप में जेल जाने के बाद मार्च 2017 में उन्हें जमानत मिली थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.