चुनाव में मिले, दोस्ती हुई, प्यार से शादी में बदला रिश्ता- दिलचस्प है माया-रविशंकर की लव स्टोरी

14 फ़रवरी का दिन हर प्रेमी जोड़े के लिए खास होता है. हर जोड़ा इसे अपने अपने तरीके से सेलिब्रेट करता है। आज वैलेंटाइन डे के मौके पर हम आपको ऐसे मंत्री की कहानी बता रहे हैं जो चुनाव के दौरान ही अपनी संगिनी से मिले. पहले दोनों के बीच दोस्ती हुई और फिर यह रिश्ता शादी में बदल गया। यह कहानी है मोदी सरकार के आईटी मंत्री रविशंकर और उनकी पत्नी माया की।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर ने अपनी पढाई पटना यूनिवर्सिटी से की है. जब रविशंकर प्रसाद पटना यूनिवर्सिटी से लॉ की पढाई कर रहे थे तो उनकी पत्नी माया शंकर उस दौरान पटना वीमेंस कॉलेज में पढ़ती थीं। पटना यूनिवर्सिटी  छात्रसंघ चुनाव के दौरान दोनों एक दूसरे से पहली बार मिले थे। जिसके बाद मिलने का यह सिलसिला लगातार जारी रहा। लगातार मिलने के दौरान दोनों के बीच शुरू हुई दोस्ती प्यार में बदल गयी। जिसके बाद दोनों ने शादी करने का फैसला किया। रविशंकर प्रसाद और माया शंकर दोनों एक दूसरे के साथ पिछले 39 साल से रह रहे हैं। परिवार में दोनों जोड़े के अलावा एक बेटा और एक बेटी भी है।

रविशंकर प्रसाद अपने कॉलेज के दिनों में पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ के सहायक महासचिव भी रह चुके हैं। रविशंकर प्रसाद का जन्म बिहार की राजधानी पटना में हुआ है। उनके पिता ठाकुर प्रसाद पटना हाईकोर्ट के वरिष्ठ वकील थे। रविशंकर प्रसाद के राजनीतिक जीवन की शुरुआत 1970 में एक छात्र नेता के रूप में हुई। रविशंकर ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था और जयप्रकाश नारायण के नेतृत्व में चल रहे छात्र आंदोलन में सक्रिय छात्र नेता के रूप में भी काम किया था ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.